Shocking : 4 साल में तीन मासूम बेटों की मौत,परिवार पर टुटा दुखों का पहाड़,ये बड़ी वजह आई सामने

Shocking : यूपी के औरैया जिले में एक मजदूर के घर ऐसा मातम छाया, जिसके बारे में जो भी शख्स सुनता है, उसकी आंखें भर आती हैं. मजदूर का नाम संतोष वर्मा है. उसके तीन मासूम बेटों की मौत चार साल के अंदर मौत हो गई. इससे वो और उसका परिवार बुरी तरह टूट गया है.

 

जिले में दिबियापुर के वीर अब्दुल हमीद नगर मोहल्ला निवासी संतोष का कहना है कि साल 2019 में पहले बेटा जो कि सात महीने का था उसकी मौत हो गई थी. इसके बाद 2022 में 9 महीने 11 दिन के दूसरे और बीते दिन (11 अक्टूबर) को तीसरे बेटे के मौत हो गई. वो एक साल 5 महीने का था. तीनों की मौत बुखार आने से हुई है.

Read More:Shocking : 4 साल की बच्ची को 35 बार मारे थप्पड़, टीचर की शर्मनाक हरकत हुई CCTV में कैद

Shocking : तीसरे बेटे की मौत की जानकारी पर स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची. इसमें डिप्टी सीएमओ राकेश सचान, दिबियापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉक्टर विजय आनंद समेत अन्य अधिकारी थे. टीम ने मलेरिया और डेंगू की भी जांच की. मगर, कोई लक्षण नहीं पाए गए.

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अधीक्षक का बयान

Shocking : दिबियापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अधीक्षक ने बताया कि जब सूचना मिली कि एक दंपती के तीन बच्चे खत्म हो गए हैं, तो हम लोग उसके घर पहुंचे. जानकारी मिली कि एक बच्चा 2019 में, दूसरा 2022 में और तीसरा 11 तारीख को खत्म हुआ. मामले में जानकारी जुटाई गई है. मोहल्ले में डेंगू के लार्वा की भी जांच की गई, मगर ऐसा कोई लक्षण नहीं मिला है.

Read More : Shocking : एम्स से आई दिल दहला देने वाला विडिओ,एम्स में गार्ड्स ने मरीज के अटेंडर को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

‘बिना चिकित्सक की सलाह के दवाई दी थी’

उन्होंने आगे बताया कि 9 तारीख को संतोष के बेटे को बुखार आया था. उसने बिना चिकित्सक की सलाह के बच्चे को कहीं से दवाई दिलाई थी. इसके बाद उसके शरीर पर नीले चकत्ते पड़ने लगे. संतोष इलाज के लिए 10 तारीख को उसे कानपुर हैलट अस्पताल ले गया, जहां 11 तारीख को उसकी मौत हो गई.

Related Articles

Back to top button