Shocking : मरा समझकर अंतिम संस्कार कर जिन्दा ही कब्र में दफना दिया ,11 दिनों तक कब्र से कोई मदद मांगती रही ,जब कब्र खोला गया…

Shocking : मौत हर इंसान के लाइफ की एक ऐसी सच्चाई है जो आनी ही है. इंसान चाहे जितनी कोशिश कर ले, मौत को टाल नहीं सकता. इस वजह से ज्यादातर लोग अपनी लाइफ को खुलकर जीने में यकीन रखते हैं. मौत के आने के बाद तो सब कुछ यहीं रह जाना है. लेकिन क्या हो अगर कोई जिन्दा ही कब्र में दफना दिया जाए तो? जी हां, ब्राजील में रहने वाली एक महिला के साथ ऐसा ही कुछ हुआ. अभी उसकी जिंदगी खत्म भी नहीं हुई थी और इसे मरा समझकर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया.

Read More : Shocking : बॉलीवुड में मचा हड़कंप, अस्पताल में भर्ती हुई ये एक्ट्रेस, वजह जान फैंस भी दंग, बोले – जो होना था हो चुका

Shocking : मामला साल 2018 में ब्राजील से सामने आया था. यहां Rosangela Almeida dos Santos नाम की महिला को डॉक्टर्स ने दो कार्डियक अरेस्ट के बाद मरा हुआ घोषित कर दिया था. इसके बाद उसकी लाश को नॉर्थ ईस्ट ब्राजील के ऋचाओं दस नेवेस में दफना दिया गया. उसके घरवाले इस लॉस के बाद काफी रोए थे. लेकिन उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि वो अपनी रोसंगेला को जिंदा ही दफना आए हैं. कब्र में पूरे ग्यारह दिन इस महिला ने जिंदगी के लिए जंग लड़ी थी. लेकिन आखिरकार वो हार गई.

रात को आती थी चीखने की आवाजें
मामला तब खुला जब आसपास के लोगों को कई रातों तक कब्रिस्तान से चीखने की आवाज आती रही. लोगों को लगा कि ये शायद किसी भूत प्रेत का साया है. इस वजह से कई दिनों तक कोई उस तरफ गया ही नहीं. लेकिन एक रात साफ़ लगा कि कब्र से कोई मदद मांग रहा है. जब इसकी सूचना मैनेजमेंट को दी गई तो उन्होंने हाल में दफनाए गए कब्रों की जांच की. इस कड़ी में रोसंगेला की कब्र जैसे ही खुली, सब हैरान रह गए.

Read more : Shocking : इन स्टार्स ने पार की सारी हदें, रुपयों के खातिर उतारे अपने सारे कपड़े

कब्र से मिले जिंदा होने के सबूत
Shocking : 37 साल की रोसंगेला के कब्र की हालत देख समझ आया कि वो ग्यारह दिन तक जिंदा थी. उसने बाहर आने की काफी कोशिश की थी. उसके नाक और कान में डाली गई रुई बाहर फेंकी हुई थी. कब्र के अंदर नाख़ून के निशान थे. निशान बनाने के कारण रोसंगेला का खून भी बहा था, जो कब्र के अंदर फैला हुआ था. ग्यारह रातों तक रोसंगेला बाहर आने के लिए चीखती रही थी. लेकिन भूत समझकर किसी ने उसकी मदद नहीं की. आखिरकार जब कब्र खुली, तब उसकी मौत हो चुकी थी. उसकी बॉडी उस समय गर्म थी. यानी कब्र के खुलने से कुछ ही देर पहले उसकी मौत हुई थी.

Related Articles

Back to top button