Sad News : बेटे ने किया ख़ुदकुशी, तो पिता भी झूल गया फांसी पर, वजह जानकार दहल जाएगा दिल

Sad News : मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले NEET परीक्षा में लाखों बच्चे शामिल होते है। ऐसे में कई बार परीक्षा में सफल नहीं हो पाने के चलते गलत कदम उठा लेते है। सपनों को साकार करने के लिए कोचिंग भेजने वाले परिजन भी ऐसे कदम से सहम जाते है। चेन्नई से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकार आपका दिल ढल जाएगा। व्यापर24 न्यूज की ओर से अपील है की बच्चे अपने परिवार के साथ मुश्किल घड़ी में बात करें।

Sad News : चेन्नई (Chennai) से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहां NEET परीक्षा में फल होने पर छात्र ने सुसाइड कर लिया। मगर बेटे की मौत का सदमा नहीं झेल पाए पिता ने भी अगले दिन आत्महत्या कर ली। पुलिस ने कहा कि वह लड़के के पिता चेन्नई में अपने घर पर मृत पाए गए। (Student Suicide)

Read More : Sad News : भारी बारिश के बीच ढहा शिवमंदिर, 50 से अधिक श्रद्धालुओं के दबे होने की आशंका, अभी तक निकाले गए 9 शव

 

Sad News : जानकारी के मुतबिक, जगदीश्वरन नाम के छात्र ने 427 अंकों के साथ बारहवीं की परीक्षा पास करने के बाद दो प्रयासों में नीट एंट्रेंस क्लियर नहीं कर पाया था। इससे वह काफी परेशान था। शनिवार को उसने अपने पिता के कॉल का जवाब नहीं दिया और घर पर मृत (NEET Student Suicide) अवस्था में पाया गया। (NEET Student Suicide)

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन (CM M.K. Stalin) ने दोनों की मौत पर गहरा शोक व्यक्त किया है। साथ ही छात्रों से अपील की है कि वे “आत्महत्या के विचार न लाएं बल्कि आत्मविश्वास रखें और जीवन जिएं।”

Read More : Sad News : ऋतिक रोशन के लिए आ रही बुरी खबर, इस दिल के करीबी ने दुनिया को कहा अलविदा, लंबे समय से थी बीमार

Sad News : उन्होंने कहा कि, ‘मैं सभी छात्रों से कह रहा हूं – किसी भी स्थिति में किसी को भी अपनी जान नहीं गंवानी चाहिए। हम निश्चित रूप से NEET को हटा सकते हैं जो आपके लक्ष्यों में बाधा है। तमिलनाडु सरकार काम कर रही है और इस दिशा में कानूनी कदम उठा रही है।

 

स्टालिन ने NEET पर उनकी हालिया टिप्पणियों के लिए गवर्नर आरएन रवि की भी कड़ी आलोचना की और कहा कि, ‘जब हम जिस राजनीतिक बदलाव (सत्ता परिवर्तन) की आकांक्षा रखते हैं, वह कुछ महीनों में हो जाएगा, तो NEET की दीवार गिर जाएगी और जिन्होंने कहा था कि वे NEET को हटाने के लिए विधेयक को मंजूरी नहीं देंगे, वह गायब हो जाएगा।’

Read More : Sad News : 24 घंटे में एक ही अस्पताल में 18 मरीजों की मौत, दिए जांच के आदेश

Sad News : बता दें कि, गवर्नर ने NEET परीक्षा को हटाने वाले बिल पर कहा था कि, वे इसे मंजूरी देने के पक्ष में नहीं हैं। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा था कि योग्यता परीक्षा बनी रहेगी और वह चाहते हैं कि हर बच्चा प्रतिस्पर्धी बने। उन्होंने कहा, “कोई भ्रम न रहे, NEET देश में रहने वाला है। मैं चाहता हूं कि मेरे बच्चे प्रतिस्पर्धी बनें, देश में सर्वश्रेष्ठ बनें।” राज्यपाल आरएन रवि ने रविवार को राजभवन में NEET टॉपर्स के साथ बातचीत करते हुए कहा कि वह तमिलनाडु को NEET से छूट देने वाले विधेयक पर कभी हस्ताक्षर नहीं करेंगे।

आगे कहा कि, ‘हमने NEET छूट विधेयक को दो बार पारित किया और राज्यपाल (Governor) को भेजा। उन्होंने समय बिताया और अत्यधिक विलंब किया। हमने इसे दोबारा विधानसभा में पास किया। अगर सरकार इसे दूसरी बार भेजती है तो उसे मंजूरी देनी चाहिए। लेकिन उन्होंने इसे राष्ट्रपति के पास भेज दिया है। गवर्नर रवि का बुरा विचार यह है कि बिल कहीं चला जाना चाहिए और ठंडे बस्ते में डाल दिया जाना चाहिए।”

Read More : Sad News : इंडस्ट्री को लगा एक और तगड़ा झटका, इस दिग्गज डांसर ने दुनिया को कहा अलविदा, नृत्य जगत में उमड़ा दुखों का सैलाब

Sad News : सीएम स्टालिन ने यह भी कहा कि राज्यपाल का अब इस बिल से कोई लेना-देना नहीं है क्योंकि बिल को राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि, ”बिल उनके हस्ताक्षर का इंतजार नहीं कर रहा है। यह राष्ट्रपति पर निर्भर है। उनकी सहमति की अब जरूरत नहीं है।”

हालाँकि, सीएम स्टालिन के ऐलान पर कुछ सवाल भी उठाते हैं, वो ये कि, दबाव केवल NEET परीक्षा को लेकर ही नहीं है, स्कूली परीक्षाओं के दबाव में भी कई बच्चों के आत्महत्या करने के मामले सामने आते हैं, तो क्या ऐसे में परीक्षाएं ही रद्द कर देना, सही उपाय होगा ? क्या बच्चों पर से दबाव कम करने के लिए कोई अन्य कदम नहीं उठाए जा सकते ?

Related Articles

Back to top button