Sad News : मेरा बेटा बिकाऊ है : मुझे बेचना है, छह से आठ लाख में ले लो कोई, सूदखोरों से तंग आकर शख्स बेच रहा है अपना बेटा

Sad News : आज के समय में हर परिवार इतना सक्षम नहीं होता है कि वह अपनी आजीविका चला पाए। कई बार जैसे तैसे वह अपना घर चला भी लेता है लेकिन सूदखोरों के चलते वह अपना घर बार बेचने तक को मजबूर हो जाते हैं। आज हम बात कर रहे हैं अलीगढ़ की महानगर के महुआखेड़ा क्षेत्र के एक रिक्शा चालक परिवार है जो की सूदखोरों से बेहद परेशान हो चुके हैं। ई-रिक्शा चालक मेरा बेटा बिकाऊ है, मुझे बेटा बेचना है लिखी तख्ती गले में लटकाकर पत्नी व बेटी सहित गांधीपार्क बस स्टैंड के पास पार्क के सामने बैठा है।

 

आपको बता दे कि इस परिवार की स्थिति देखकर आने जाने वाले लोगों की भीड़ उमड़ गई। जब लोग परिवार की स्थिति देखकर समझने लगे तो परिवार ने अपना दुख बताया। परिवार ने कहा कि, थाना पुलिस ने सुनवाई नहीं की। अब बेटे को बेचने के सिवाय कोई रास्ता नहीं। देर शाम परिवार को गांधीपार्क पुलिस अपने साथ ले गई। पूछताछ के आधार पर कार्रवाई की तैयारी में थी। आपको बता दे कि परिवार के मुखिया का नाम राजकुमार है जो की ई रिक्शा चलाते हैं।

Read More : Sad News : नाना पाटेकर को लेकर आ रही बुरी खबर!, फेसबुक लाइव पर पी रहे थे फिनाइल…जानें फिर क्या हुआ…

दरअसल राजकुमार का मामला यह रहा है कि उन्होंने प्रॉपर्टी खरीदने के लिए कुछ पैसे कर्ज लिए थे। वही कर्जदारों ने उनके प्रॉपर्टी के पेपर्स रख लिए हैं और पेपर्स पर बैंक से कर्ज ले लिया गया है अब हर महीने उनसे ₹50000 मांगा जा रहा है। कर्जदारों का कहना है कि पैसे वापस न करने पर ई रिक्शा जप्त कर लिया जाएगा और घर की बहन बेटियों से अनुचित व्यवहार किया जाएगा।

Read More : Sad News : मेरा बेटा बिकाऊ है, मुझे बेटा बेचना है…जानें कीमत

आपको बता दे कि यह पूरा परिवार दहशत में है और राजकुमार ने बताया है कि परिवार की आजीविका चलाने के लिए उनके पास एक ई रिक्शा ही साधन है। लेकिन ई-रिक्शा को भी छीन लिया गया है यही कारण है कि अब वह अपने बेटे को बेचने के लिए मजबूर है। पूरा परिवार गले में तख्ती लटका ली जिस पर लिखा है, मेरा बेटा बिकाऊ है, मुझे बेटा बेचना है। वह बेटे को छह से आठ लाख रुपये में बेच रहा है। पीड़ित राजकुमार का कहना है कि बेटे को बेचकर वह इन पैसों से अपने परिवार का भरण पोषण करेगा बेटी को पढ़ाएगा। राजकुमार का यह भी कहना है कि इस पूरे मामले को लेकर उन्होंने थाने में शिकायत दर्ज कराई लेकिन वहां किसी ने नहीं सुनी। अंत में जाकर राजकुमार ने परिवार की सहमति से मजबूरी में बेटे को बेचने का फैसला लिया है।

Related Articles

Back to top button