PM Bhartiya Jan Aushadhi Kendra: घर बैठकर कमाएं 50,000 रुपये महीना, ,सरकार लाई प्रधानमंत्री भारतीय जन-औषधि केंद्र .

PM Bhartiya Jan Aushadhi Kendra copy

PM Bhartiya Jan Aushadhi Kendra : महंगाई और बेरोजगारी के बढ़ते स्तर के चलते पैसा कमाना बहुत बड़ा काम बन गया है। अवसर कम और दावेदार ज्यादा होने के चलते लोगों के सामने नई-नई मुसीबतें आ रही हैं, जिससे हर किसी की जेब का बजट बिगड़ा हुआ भी चल रहा है। अगर आपके पास कोई काम नहीं और पैसा कमाने का ख्वाब देख रहे हैं तो फिर चिंता ना करें।

आप आराम से घर बैठकर अब छप्परफाड़ कमाई का सपना पूरा कर सकते हैं, जिसके लिए कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होगा। आप सोच रहे होंगे कि ऐसे कौन सा काम है जो इतनी मोटी रकम मिल रही है। अब सरकारिता मंत्रायल की ओर से एक ऐसा काम दिया जा रहा है, जिसकी सहायता से आप हर महीने 50,000 रुपये तक काम कर सकते हैं जो आपका दिल जीतने के लिए काफी है।

Read More;PM Kisan Maandhan Yojana :लघु-सीमांत किसानों के लिए एक अनोखी स्कीम ,हर महीना 3,000 रुपये पेंशन का लाभ जो महंगाई के दौर में किसी बूस्टर डोज से कम नहीं

इस काम से करें मोटी कमाई

पैसा कमाने के लिए अब सहकारिता मंत्रालय की ओर से एक बड़ा फैसला लिया गया है, जिससे हर किसी के चेहरे पर काफी खुशी दिख रहा है।अब फैक्स समितियों को जन-औषधि खोलने की इजाजत दे दी गई है। यहां पर दवाएं और च‍िक‍ित्‍सा उपकरण सस्‍ती दर पर आराम से प्रोवाइड हो जाते हैं।

मंत्रालय के मुताबिक, देशभर में 2,000 प्राथमिक कृषि ऋण समितियों को प्रधानमंत्री भारतीय जन-औषधि केंद्र खोलने की परमिशन दे दी गई है। करीब 1,000 जन-औषधि केंद्र इस साल अगस्त तक ओपन किए जाने का लक्ष्य बनाया गया है। दिसंबर 2023 तक खुलेंगे। इसके बाद आप आराम से प्रति महीने 50,000 रुपये तक कमाई आराम से कर सकते हैं। सरकार की ओर से आपको सब्‍स‍िडी भी प्रदान की जाती है।

Read More:Rooftop solar plan: सरकार की धांसू स्कीम से एसी, कूलर और पंखा चलाने के बाद भी बिजली बिल आएगा जीरो

इतनी समितियों का किया गया चयन

सहकारिता मंत्रालय की ओर से भारत में करीब 2,000 पैक्स समितियों का चयन करने का फैसला लिया गया है। मंत्रालय के मुताबिक, इस अहम फैसले से न केवल पैक्स समितियों की आमदनी और रोजगार अवसरों में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। वहीं, दवाओं की बिक्री वाले 9,400 से ज्‍यादा जन-औषधि केंद्र खुल चुके हैं। यहां से कीब 1,800 दवाओं और 285 चिकित्सा उपकरणों की बिक्री की जाती रही है।

 

 

Related Articles

Back to top button