ISIS के मोस्ट वांटेड आतंकी को NIA ने दिल्ली में किया अरेस्ट,बड़ी आतंकी वारदात की कर रहे थे प्लानिंग

NIA : दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) ने  इस्लामिक स्टेट (ISIS) के एक संदिग्ध आतंकवादी शाहनवाज उर्फ शैफी उज्जमा (Mohammad Shahnawaz) को गिरफ्तार कर लिया है. इसके साथ ही दो और संदिग्ध आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. शाहनवाज राष्ट्रीय जांच एजेंसी(NIA) के मोस्ट वांटेड आतंकवादियों में से एक है. उसके सिर पर NIA ने 3 लाख रुपये का ईनाम रखा गया था. वो पुणे के ISIS केस में वांटेड था.

इंडिया टुडे से जुड़े अरविंद ओझा की रिपोर्ट के मुताबिक, शाहनवाज पेशे से इंजीनियर है. वो पुणे पुलिस की कस्टडी से फरार होकर दिल्ली में रह रहा था. शाहनवाज से पूछताछ में मिली जानकारी पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने और भी कई रेड कीं. स्पेशल सेल ने 3 से 4 लोगों को और हिरासत में लिया है. दिल्ली में बड़ी आतंकी वारदात की प्लानिंग का खुलासा हुआ है. साथ ही  IS के आतंकी मॉड्यूल के बारे में भी पता चला है.

Read More:benefits of red aloe vera:रेड एलोवेरा के गजब के फायदे, ब्लड शुगर के साथ पीरियड को भी करता है रेगुलर

IED वाला केमिकल बरामद

रिपोर्ट के मुताबिक, शाहनवाज के ठिकाने से भारी मात्रा में लिक्विड केमिकल बरामद किया गया है. गिरफ्तार किए गए तीनों आतंकवादी इसका इस्तेमाल इंप्रोवाइज़्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) बनाने में करने वाले थे. फिलहाल तीनों आरोपियों से पूछताछ जारी है.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल देश में कई आतंकी मॉड्यूल पर नकेल कसने के लिए NIA के अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रही है. पुणे ISIS मॉड्यूल केस में अब तक 5 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है.

क्या है पुणे ISIS मॉड्यूल केस?न्यूज़ एजेंसी ANI की एक रिपोर्ट के मुताबिक, NIA ने पुणे ISIS मॉड्यूल केस की अपनी जांच में पाया कि इसका मुख्य आरोपी शामिल साकिब नचान है. वो जुल्फिकार अली बड़ौदावाला, मोहम्मद इमरान खान, मोहम्मद युनूस साकी, सिमाब नसीरुद्दीन काजी और अब्दुल कादिर पठान के साथ मिलकर काम कर रहा था. मोहम्मद शाहनवाज भी इनका साथी था.

Read More;पत्नी की मौत के मामले में congress leader गिरफ्तार, ससुर ने दर्ज कराया था शिकायत

शामिल और उसके साथी ISIS के स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे थे. इन्होंने मिलकर पुणे के कोंढवा में एक घर के अंदर IEDs बनाए थे. उन्हें इसी घर में IED को असेंबल करने और बनाने की ट्रेनिंग भी दी गई थी.

NIA ने शामिल को गिरफ्तार करते हुए बताया था कि इन आतंकवादियों ने खुद के बनाए IED को टेस्ट भी कर के देखा था. इनकी साजिश देश में शांति और सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की थी. आरोपी देश में ‘इस्लामिक राज्य’ स्थापित करना चाहते थे. उनका लक्ष्य आतंक और हिंसा फैलाकर ISIS के एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने का था.

क्या है पुणे ISIS मॉड्यूल केस?

न्यूज़ एजेंसी ANI की एक रिपोर्ट के मुताबिक, NIA ने पुणे ISIS मॉड्यूल केस की अपनी जांच में पाया कि इसका मुख्य आरोपी शामिल साकिब नचान है. वो जुल्फिकार अली बड़ौदावाला, मोहम्मद इमरान खान, मोहम्मद युनूस साकी, सिमाब नसीरुद्दीन काजी और अब्दुल कादिर पठान के साथ मिलकर काम कर रहा था. मोहम्मद शाहनवाज भी इनका साथी था.

 

शामिल और उसके साथी ISIS के स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे थे. इन्होंने मिलकर पुणे के कोंढवा में एक घर के अंदर IEDs बनाए थे. उन्हें इसी घर में IED को असेंबल करने और बनाने की ट्रेनिंग भी दी गई थी.

NIA ने शामिल को गिरफ्तार करते हुए बताया था कि इन आतंकवादियों ने खुद के बनाए IED को टेस्ट भी कर के देखा था. इनकी साजिश देश में शांति और सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की थी. आरोपी देश में ‘इस्लामिक राज्य’ स्थापित करना चाहते थे. उनका लक्ष्य आतंक और हिंसा फैलाकर ISIS के एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने का था.

Related Articles

Back to top button