Mrityunjay Dubey ने बोला हमला, कहा-महापौर से जनता नाराज…कांग्रेसी पार्षदों के वार्ड में भी भाजपा को प्रचंड बहुमत…महापौर इस्तीफा दे…

Mrityunjay Dubey : भारतीय जनता पार्टी पार्षद दल की आवश्यक बैठक नगर निगम मुख्यालय में बुलाई गई। बैठक में सर्वप्रथम छत्तीसगढ़ में भाजपा को मिली प्रचंड मतों से जीत के लिए जनता का आभार व्यक्त किया गया। रायपुर शहर के चारो विधानसभा में और लगभग शहर के 70 वार्डों में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों की बहुमत से जीत यह प्रमाणित करता है कि शहर की जनता वर्तमान महापौर की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट हैं। अत: नैतिकता के आधार पर महापौर को इस्तीफा दे देना चाहिए। सत्तापक्ष के पार्षदों के वार्डो में भी भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशियों की जीत बहुमत से हुई है। इससे स्पष्ट है कि सत्तापक्ष के पार्षद महापौर की कार्यप्रणाली के कारण अपने वार्डो में भी जीत नहीं दिला पाये।

महापौर जनता के द्वारा न चुनकर अपने पार्षदों के द्वारा चुने गये हैं। पार्टी के आंतरिक व्यवस्था के तहत एजाज ढेबर महापौर प्रत्याशी थे। जिस तरह मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को इस्तीफा सौपा। उसी तरह महापौर एजाज ढेबर को भी रायपुर कलेक्टर को इस्तीफा सौंप देना चाहिए।

Mrityunjay Dubey : BJP पार्षद दल ने महापौर पर आरोप लगाया है कि पिछले चार वर्षो में शहर की जनता को न पेयजल उपलब्ध करा पाये। न ही चलने को सड़क उपलब्ध करा पाये। गरीबो को आवास दिलाने में महापौर असफल रहे। विद्युत की व्यवस्था चौपट हो गई है। लाखों के स्मार्ट पोल डंप पड़े हैं। सफाई व्यवस्था ठप्प है। करोड़ो के खरीदे गये डस्टबीन धूल खाते पडे हैं।

Read More : CG POLITICAL : रेणुका सिंह ने की जेपी नड्डा से मुलाकात, सीएम की रेस में चल रही सबसे आगे Mrityunjay Dubey

शहर में अवैध कब्जों की भरमार है। आवारा कुत्तों का आतंक बढ़ गया है। मांस मटन की दुकाने बिना अनुमति के रहवासी क्षेत्रों में खोले गए हैं। रायपुर शहर के 70 वार्डों में विकास कार्य का अता पता नहीं है। केवल घोषणाएं हुई है। भूमिपूजन हुआ है लेकिन नगर निगम को राज्य की कांग्रेस सरकार से राशि अब तक नहीं मिली है। पिछले 4 सालों में कांग्रेसी महापौर अपनी ही सरकार से विकास कार्य के लिए राशि नहीं ला पायें है। कुल मिलाकर महापौर प्रत्येक क्षेत्र में जनता की समस्याओं का निराकरण करने में असफल रहे हैं।

Mrityunjay Dubey : जिस पर राजधानी की जनता ने भी मुहर लगाते हुए रायपुर शहर के चारों विधानसभा पर भाजपा प्रत्याशियों को प्रचण्ड मतों से विजयी बनाया है। अब शहर की सत्ता से महापौर एजाज ढेबर के इस्तीफे की मांग भाजपा पार्षद दल करता है और संगठन के निर्णय अनुसार अविश्वास प्रस्ताव पर अपनी रणनीति निर्धारित करेगी।

Related Articles

Back to top button