Mahadev App से जुड़े आरोपों को सीएम भूपेश बघेल ने किया खारिज, 508 करोड़ लेने का आरोप

Mahadev App : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। साथ ही बीजेपी पर चुनाव जीतने केन्द्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि अब जब पीएम मोदी और अमित शाह का जादू नहीं चल पा रहा है। तो बीजेपी षड़यंत्र रच रही है। आगे देखें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर क्या लिखा है।

Read More : Mahadev App का सीधा संबंध भूपेश बघेल से, ED ने जारी की प्रेस रिलीज़

जैसा कि मैंने पहले कहा है कि भारतीय जनता पार्टी ED, IT, DRI और CBI जैसी एजेंसियों के सहारे छत्तीसगढ़ का चुनाव लड़ना चाहती है. चुनाव के ठीक पहले ईडी ने मेरी छवि धूमिल करने की सबसे कुत्सित प्रयास किया है. यह कांग्रेस की लोकप्रिय सरकार को बदनाम करने का राजनीतिक प्रयास है जो ईडी के माध्यम से किया जा रहा है. ‘महादेव ऐप’ की कथित जांच के नाम पर ईडी ने पहले मेरे करीबी लोगों को बदनाम करने के लिए उनके घर छापे डाले और अब एक अनजान से व्यक्ति के बयान को आधार बनाकर मुझ पर 508 करोड़ लेने का आरोप लगा दिया है.

Mahadev App : ED की चालाकी देखिए कि उस व्यक्ति का बयान ज़ाहिर करने के बाद एक छोटे से वाक्य में लिख दिया है कि बयान जांच का विषय है. अगर जांच नहीं हुई है तो एक व्यक्ति के बयान पर प्रेस रिलीज़ जारी करना न केवल ईडी की नीयत को बताता है बल्कि इसके पीछे केंद्र सरकार की बदनीयती को भी ज़ाहिर करता है. इस समय राज्य में चुनाव हो रहे हैं. सब कुछ चुनाव आयोग के हाथों में है. पुलिस के अलावा सीआरपीएफ़ के जवान जांच कर रहे हैं. ऐसे में सवाल यह उठता है कि इतनी बड़ी रकम लेकर लोग किस तरह से छत्तीसगढ़ पहुंच पा रहे हैं? कहीं इसमें भी तो केंद्रीय एजेंसियों की सांठगांठ नहीं चल रही है?

Read More : Mahadev App : ED के रडार पर कई बड़े स्टार्स, रणबीर कपूर का बयान का दर्ज करगी ED, श्रद्धा कपूर, सोनाक्षी सिन्हा, इमरान हाश्मी समेत इन पर गिरने जा रही गाज

Mahadev App : कहीं ये रकम उन संदूकों में तो भरकर नहीं लाई गई है जो ईडी के अफ़सरों और सुरक्षा एजेंसियों के साथ विशेष विमान से तो नहीं पहुंची है? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह दोनों मिलकर भी कांग्रेस का छत्तीसगढ़ में मुकाबला नहीं कर पा रहे हैं तो वे जांच एजेंसियों के सहारे चुनाव लड़ना चाहते हैं.

ED के ख़िलाफ़ मैंने खुले बयान दिए हैं और जनता को बताता रहा हूं कि ईडी किस तरह से काम करती है. वह पहले लोगों के नाम तय करती है फिर लोगों को गिरफ़्तार करके धमकाती डराती है और नाम लेने के लिए बाध्य करती है. इसके लिए वह किसी भी हद तक जा सकती है. मारना, डराना धमकाना तो सामान्य बात है. कांग्रेस तैयार है. कांग्रेस का एक एक कार्यकर्ता तैयार है. ईडी, आईटी जैसी एजेंसियों के मुक़ाबले के लिए छत्तीसगढ़ की जनता हमारे साथ है.

Related Articles

Back to top button