Health : हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों को जरूर खाना चाहिए ये साग,दिल के लिए है बेहद फायदेमंद

Health
Health

Health : दिल की बीमारियां जो आजकल तेजी से बढ़ रही हैं इसके पीछे एक बड़ा कारण है कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना जो कि खराब डाइट के कारण आम होता जा रहा है। दरअसल, अनहेल्दी फैट से भरपूर फूड्स का सेवन शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है और ब्लड सर्कुलेशन को प्रभावित करता है। इसकी वजह से होता ये है कि दिल को पूरे शरीर में ब्लड पंप करने में प्रेशर महसूस होता है जिस वजह से हाई बीपी की समस्या होती है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए जरूरी है कि आप शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से रोकें और इस काम में ये साग (bathua in high cholesterol) आपके लिए मददगार हो सकता है। कैसे, जानते हैं इस बारे में विस्तार से।

हाई कोलेस्ट्रॉल में बथुआ- bathua in high cholesterol

Health : हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों को बथुआ जरूर खाना चाहिए। दरअसल, बथुआ की पत्तियों में फाइबर और रफेज की अच्छी मात्रा होती है जो कि कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद कर सकता है। ये असल में आपके शरीर में जाकर गर्मी बढ़ाती है और बैड फैट लिपिड्स को पिघलाने में मदद कर सकती है। एक तरह से समझें तो इसका रफेज आपकी धमनियों के लिए स्क्रब की तरह काम करता है और कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं ये दिल के लिए भी फायदेमंद है।

Read More:Health : विटामिन डी की कमी के सीधे लक्षण दिखते है स्किन पर,न करें

दिल के लिए भी फायदेमंद बथुआ- Is bathua good for heart patients

Health : बथुआ साग में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो हृदय रोग से जुड़ी पुरानी सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। ये विटामिन ए, सी और के से भरपूर होने के कारण, बथुआ की पत्तियां दिल के लिए फायदेमंद है। इन पत्तियों में मैग्नीशियम और पोटेशियम भी होता है, जो धमनियों की दीवारों को स्वस्थ रखने के साथ दिल के काम काज को बेहतर बनाते हैं।

Read more:Health : हाई यूरिक में बेहद फायदेमंद है हरड़ का सेवन,चुटकियों में पिघला देगा प्यूरिन की पथरियों को

Health 1
Health 1

हाई कोलेस्ट्रॉल में कैसे खाएं बथुआ- best way to have bathua in high cholesterol

Health : हाई कोलेस्ट्रॉल में आप बथुआ को कई प्रकार से खा सकते हैं। लेकिन, सबसे कारगर तरीका ये है कि बथुआ को उबाल लें और फिर इसमें थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर दरदरा पीस लें और इसका चौखा जैसा बनाकर या रायता बनाकर खाएं। ध्यान रखें कि इसमें तेल और मसाले आदि की मिलावट न करें।

Related Articles

Back to top button