Good news : टीचर्स के लिए खुसखबरी ,सरकार 50 हजार शिक्षकों को दे देने जा रही स्कूटी ,जाने किसको मिलेगा इसका लाभ

Good news : असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार दूरदराज के इलाकों के स्कूलों के टीचर्स को स्कूटी देने पर विचार कर रही है। शर्मा ने कहा कि स्कूटी के होने से शिक्षकों को समय पर कक्षाओं में पहुंचने में मदद मिलेगी। उन्होंने असम के तेजपुर में 9वीं कक्षा के छात्रों के लिए साइकिल वितरण कार्यक्रम में कहा, ‘कुछ स्कूल ऐसे हैं जो दूरदराज के इलाकों में हैं और भौगोलिक परिस्थिति के कारण टीचर्स को वहां पहुंचने में देर हो जाती है। हम लगभग 50 हजार ऐसे शिक्षकों को स्कूटी दे सकते हैं ताकि वे समय पर स्कूल पहुंचें।’

Read More:Good News : पेंशनरों को राज्य सरकार ने दिया बड़ा तोहफा,बढ़ाई गई पेंशन की राशि, इन पेंशनरों के खाते में आएंगे 15000

‘छात्रों की पढ़ाई का नुकसान नहीं होना चाहिए’

असम के मुख्यमंत्री ने कहा कि 2 सालों में साइकिल वितरण कार्यक्रम कक्षा-8 के स्तर पर किया जाएगा ताकि छात्र अपनी हाईस्कूल की पढ़ाई की अवधि के दौरान आसानी से स्कूल आ-जा सकें। शर्मा ने कहा, ‘हमारी सरकार के लिए सबसे जरूरी यह है कि टीचर समय पर स्कूल पहुंचें और छात्रों की पढ़ाई के एक मिनट का भी नुकसान न हो।’ उन्होंने छात्रों और शिक्षकों से कहा कि वे यह भी बताएं कि कौन से ऐसे इलाके हैं जहां स्कूल आने-जाने के लिए सड़कों और पुलों की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने छात्रों से राज्य में हरियाली को बढ़ाने के लिए कम से कम एक पौधा लगाने का आग्रह किया।

Read More:Good News : सरकार बुजुर्गों को देने जा रही बड़ा तोहफा,हर महीने मिलेगी 3000 की पेंशन,CM ने किया ऐलान

‘3.7 लाख छात्रों को वितरित की साइकिलें’
असम के सीएम ने बाद में ‘X’ पर लिखा, ‘प्रगति और विकास जीवन को आसान बनाने और एक ऐसा पारिस्थितिकी तंत्र बनाने पर निर्भर हैं जहां हमारे बच्चे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सकें। 4,000 से ज्यादा स्कूलों के पुनर्निर्माण और शिक्षण रिक्तियों को पूरा करने से लेकर असम छात्रों को साइकिल, कंप्यूटर और दोपहिया गाड़ियों से भी लैस कर रहा है। आज हमने सरकारी स्कूलों में 9वीं कक्षा के 3.7 लाख मेधावी छात्रों को 161 करोड़ रुपये की साइकिलें वितरित कीं, जिनमें से 56 फीसदी लड़कियां हैं।’ तस्वीरों में छात्र हिमंत से मिलकर बेहद खुश नजर आए।

Related Articles

Back to top button