Good News : कर्मचारियों-पेंशनरों के लिए खुशखबरी, बढ़ सकता है न्यूनतम वेतन,साथ ही इन भत्तों में वृद्धि संभव

Good News : केन्द्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों को 2024 में मिल सकती है बड़ी सौगातें।2023 में मोदी सरकार केन्द्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों को कई तोहफे दिय है। 2024 में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर ऐसा मन जा रहा कि मोदी सरकार केन्द्रीय कर्मचारियों को एक साथ कई बड़े तोहफे दे सकती है, इसमें महंगाई भत्ता, हाउस रेंट अलाउंस, ट्रैवल अलाउंस और फिटमेंट फैक्टर में वृद्धि शामिल है।केन्द्र सरकार ने 2023 में 8 फीसदी डीए बढाया है और संभावना है कि नए साल में फिर 4 फीसदी डीए बढ़ सकता है, हालांकि डीए AICPI इंडेक्स के छमाही आंकड़ों पर निर्भर करेगा और इसके बाद ही अन्य भत्तों में इजाफा होगा।चर्चा तो ये भी है कि लोकसभा चुनाव से पहले लंबे समय से उठ रही कर्मचारियों की फिटमेंट फैक्टर की मांग को पूरा करते हुए इसे बढ़ाया जा सकता है, हालांकि अभी
अधिकारिक पुष्टि होना बाकी है।

Read More:Honda ने लांच की जबरजस्त नई सीबी-350, फीचर और लुक के हो जाएंगे दीवाने

सरकार ने नए साल में 4% बढ़ सकता है महंगाई भत्ता

दरअसल, केन्द्र सरकार द्वारा साल में दो बार जनवरी और जुलाई में कर्मचारियों-पेंशनरों के DA/DR की दरों में संशोधन किया जाता है, जो की AICPI इंडेक्स के छमाही के आंकड़ों पर निर्भर करता है। 2023 के लिए दोनों दरों का ऐलान हो गया है और अब अगला डीए साल 2024 में रिवाइज होगा, जो जुलाई से दिसंबर 2023 के AICPI इंडेक्स के आंकड़ों पर निर्भर करेगा।
सितंबर तक आए आंकड़ों से कयास लगाए जा रहे है कि नए साल में डीए 50% या इससे पार हो सकता है। भले ही सितंबर में AICPI 1.7 अंक घटकर 137.5 पर रहा, लेकिन डीए का स्कोर 48.54 फीसदी पहुंचा है। अगर दिसंबर तक डीए स्कोर बढ़कर 50 फीसदी तक पहुंचता है तो डीए में फिर 4% वृद्धि होना तय है, हालांकि अभी अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर के आंकड़े जारी होने बाकी है, इसके बाद तय होगा कि 2024 जनवरी से कितना डीए बढ़ेगा।

Read More:बीजेपी अध्यक्ष JP Nadda के लिये आ रही बुरी खबर, उनके इस करीबी ने दुनिया को कहा अलविदा

अगर दिसंबर तक महंगाई भत्ता 50% तक पहुंचता है तो कर्मियों की सैलरी रिवाइज होगी क्योंकि केन्द्र सरकार ने 7TH Pay Commission का गठन के साथ ही DA के रिविजन के नियमों को तय किया था कि डीए 50% होने पर शून्य हो जाएगा, 50% डीए को मौजूदा बेसिक सैलरी में जोड़कर दिया जाएगा और डीए की गणना शून्य से शुरू होगी या फिर नया वेतन आयोग भी लागू किया जा सकता है, हालांकि अंतिम फैसला केन्द्र सरकार द्वारा ही लिया जाएगा।

Related Articles

Back to top button