CG NEWS : ग्रामीणों का दुश्मन अडानी या प्रशासन, खून के आंसू रोने कौन कर रहा मजबूर…

रायपुर। CG NEWS : परसा ईस्ट केते खुली खदान में पेड़ों की कटाई आदिवासी संस्कृति पर सीधा प्रहार है। बावजूद लगातार पेड़ों की कटाई जारी है। अब तक 50 हजार से अधिक पेड़ों की कटाई हो चुकी है। वहीं अभी भी पेड़ों की कटाई चल रही है। पेड़ों की कटाई अनवरत चलाने व आंका अडानी को खुश करने 450 से अधिक पुलिस बल तैनात किया गया है।

पेड़ों की कटाई का मामला छत्तीसगढ़ विधानसभा में दस्तक दे चुकी है। बावजूद इस पर रोक लगने की अभी कोई आस नहीं दिख रही है। पेड़ों की कटाई का विरोध कर रहे 15 ग्रामीणों को अब तक नजरबंद किया जा चुका है। वहीं कई लोगों को घने जंगलों के बीच घुमाया जा रहा है। इतना ही नहीं परिवार वालों को सहीं जानकारी तक उपलब्ध नहीं कराई जा रही है।

CG NEWS
CG NEWS

Read More : CG NEWS : आका अडानी को खुश करने ग्रामीणों पर चलाया जा रहा पुलिसिया डंडा, 50 हजार से अधिक कटे पेड़, 15 से ज्यादा लोग नजरबंद, ग्रामीणों में भारी आक्रोश

पेड़ों की कटाई का मामला सीधा-सीधा सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन भी है। एनजीटी ने हाथी आरक्षित क्षेत्र में पेड़ों की कटाई पर रोक लगाई हुई। बावजूद पेड़ों की बेतरतीब कटाई चल रही है।

CG NEWS : पूरा मामला कोल खनन से जुड़ा हुआ है। जिसके लालच में शासन-प्रशासन आका अडानी को खुश करने सारा षडयंत्र रच रहे हैं। इस वर्ष अकेले छत्तीसगढ़ से 9 हाथियों का मौत का मामला सामने आया है। जो पूरे देश के हाथियों के मौत के मामले में चौथे स्थान पर है। 2023 में कुल 100 हाथियों के मौत हुये हैं। हाईटेंशन तार की आड़ में लगातार हाथियों का मौत आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। पूरा मामला प्रदेश से हाथियों को खत्म कर कोल खनन को बढ़ावा देने से जुड़ा हुआ है।

Related Articles

Back to top button