Cg Assembly Election Result : ओपी चौधरी ने सीएम बनने से किया इनकार!, अरुण साव के नाम पर लग सकती है मुहर

Cg Assembly Election Result : विधानसभा चुनाव के नतीजों ने कांग्रेस नेताओं की नीदें उड़ा दी है। वहीं अब सब तरफ एक ही चर्चा है। प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा। इस बीच कई प्रबल दावेदारों के नाम भी मीडिया की लिस्ट में चल रही है। जिसमें 15 साल के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अरुण साव, पूर्व आईएएस ओपी चौधरी और विष्णु देव साय के नाम शामिल हैं। वहीं रेणुका सिंह सहित कई और नाम भी रेस में दिख रहें हैं।

सूत्रों के हवालों से खबर आ रही है। 15 साल के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अब प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री नहीं होंगे। उन्हें रेस से बाहर रखा जा रहा है। पार्टी अलाकमान डॉ. रमन सिंह को दिल्ली बुलाने की तैयारी कर रही है। वहीं पिछले लंबे समय से चर्चा में रहने वाले पूर्व आईएएस ओपी चौधरी ने खुद सीएम बनने से इनकार कर दिया है। खबर आ रही है। पार्टी अलाकमान ने खुद ओपी चौधरी को जिम्मेदारी सौंपनी चाही। जिसे ओपी चौधरी ने खुद इनकार कर दिया है।

Read More : Cg Assembly Election Result : कांग्रेस का धनिया किसने बोया, जनता ने, कार्यकर्ता ने या खुद भूपेश बघेल ने

पार्टी अलाकमान के साथ-साथ ओपी चौधरी को जनमानस भी सीएम के रूप में देखना चाह रही है। इतना ही नहीं प्रदेश के युवा भी ओपी चौधरी को सीएम के रूप में देखने उतावले नजर आ रहे हैं। जिस पर अब पानी फिरता दिख रहा है।

Cg Assembly Election Result : रेस में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अरुण साव का नाम सबसे आगे चल रहा है। किसान परविार में जन्मे, पेशे से वकील अरुण साव मुंगेली जिले के लोरमी विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी बनाये गये थे। उन्हें जनता का भारी जनसमर्थन मिला है। अरुण साव के नेतृत्व में पार्टी को प्रदेश में भारी भरकम सीट हासिल हुये हैं। जिसे पार्टी अलाकमान भूल नहीं सकती है।

Read More : Cg Assembly Election Result : गुंडाराज और सीएम के ढेबर प्रेम ने कांग्रेस को हराया!, प्रदेश में कांग्रेस का सुपड़ा साफ

प्रबल दावेदारों की रेस में विष्णु देव साय और रेणुका सिंह के नाम को भी रखा गया है। ये दोनों ही नेता आदिवासी समाज से आते हैं।

Cg Assembly Election Result : ऐसे में संभावना जताई जा रही है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव के नाम पर पार्टी अलाकमान मुहर लगा सकती है। उम्मीद जताई जा रही है। अरुण साव के नाम पर किसी को आपत्ति भी नहीं होगी। हालांकि अब देखने वाली बात होगी। पार्टी अलाकमन अपना अंतिम निर्णय कब और किस पर देती है।

Related Articles

Back to top button