Cg Assembly Election 2023 : अब भाजपा को सताने लगी डर!, कहीं कांग्रेस की घोषणाओं की झड़ी न पड़ जाये भारी

रायपुर। Cg Assembly Election 2023 : प्रदेश सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। जिसके लिए सभी पार्टियों ने अपने-अपने घोषणा पत्र जारी कर दिये हैं। छत्तीसगढ़ इकलौता राज्य है। जहां नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के चलते दो चरणों में चुनाव होने जा रहे हैं। वर्ष 2018 में 15 सीटों में सिमटने वाली भारतीय जनता पार्टी जहां पूरा जोर लगाते दिख रही है। वहीं सत्ता पक्ष किसी भी कीमत में चुनाव हारना नहीं चाहती है।

भारतीय जनता पार्टी 2018 में हुई हार का बदला लेने मैदान में उतर गई है। वहीं बीजेपी के केन्द्रीय स्तर के नेता लगातार प्रदेश में रैलियां कर प्रदेश सरकार को कोस रहे हैं। विपक्ष के हमलों का जवाब देने भूपेश सरकार मैदान में पूरी मुस्तैदी के साथ नजर आ रही है।

Read More : Election:चेकिंग के दौरान साड़ी कपड़ा से भरे 107 बोरियां किया जब्त ,प्रत्यासियो द्वारा विधानसभा निर्वाचन को प्रभावित करने की आशंका Cg Assembly Election 2023 

बीजेपी अत्याधुनिक टेक्नॉलाजी के साथ मैदान में नजर आ रही है। जिसके लिए बीजेपी की केन्द्रीय ईकाई ने प्रयागराज से विधायक सिद्धार्थना सिंह को सोशल मीडिया प्रभारी बनाकर भेजा है। जिनके नेतृत्व में लगातार कांग्रेस पर हमले की रणनीति तैयार की जा रही है।

Cg Assembly Election 2023 : रणनीतिकार के रूप में सिद्धार्थनाथ सिंह सफल साबित भी हो रहे हैं। वहीं सोशल मीडिया में व टेक्नॉलाजी में कमजोर पड़ रही कांग्रेस भाजपा पर एकतरफा हमला कर परास्त करने के फिराक में नजर आ रही है।

कांग्रेस सीधे-सीधे चुनाव को घोषणा पत्र से ही जीतना चाह रही है। इसके लिए ऋण माफी, धान का समर्थन मूल्य, गृह लक्ष्मी योजना सहित कई योजनाओं की झड़ी लगा दी है। जो भाजपा के घोषणा पत्र में नहीं है। या कमतर है। वहीं जैसे-जैसे चुनाव की तारीक्ष नजदीक आते जा रही है। घोषणाओं की सम्लीमेंट्री भी जारी की जा रही है।

Read More : CG ELECTION : राजनाथ सिंह का आज तूफानी दौरा, सरगुजा के बाद पाटन में करेंगे सभा  Cg Assembly Election 2023 

Cg Assembly Election 2023 : भूपेश सरकार हाथ आयी सत्ता को किसी भी कीमत पर खोना नहीं चाहती है। इसके लिए लगातार बीजेपी के रणनीतिकारों को फेल करते नजर आ रहे हैं। जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आते जा रही है। राजनीति के जानकारों के समीकरण बदलते दिख रहे हैं। जिसमें कभी कांग्रेस आगे तो कभी भाजपा आगे नजर आ रही है। 17 नवंबर को जनता ही तय करेगी। आखिर किसकी सरकार बनेगी।

Related Articles

Back to top button