ED के सहायक निदेशक के खिलाफ केस दर्ज,शराब घोटाला मामले में 5 करोड़ रिश्वत लेने का है आरोप

CBI ने 5 करोड़ रुपये के रिश्वत मामले में ED के सहायक निदेशक पवन खत्री, शराब व्यापारी अमनदीप ढल और क्लैरिजेस होटल के सीईओ पर मामला दर्ज किया है। CBI ने यह कार्रवाई दिल्ली शराब नीति मामले के तहत की है। इस बाबत प्रवर्तन निदेशालय की ओर से एक लिखित शिकायत दी गई थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि ईडी और सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए अमनदीप ढल और उसके पिता बीरेंद्र सिंह ने 5 करोड़ रुपये दिए थे।

Read More:Zarine Khan Hospitalised : हुआ ये गंभीर बीमारी, ICU में चल रहा इलाज

ED के सहायक निदेशक पर रिश्वत लेने का आरोप

शिकायत में ED ने बताया कि 3 करोड़ रुपये रिश्वत के तौर पर दिसंबर 2022 में और 2 करोड़ रुपये जनवरी 2023 में दिए गए थे। बता दें कि पवन खत्री पर कथित तौर पर शराब नीति मामले के आरोपी से 5 करोड़ रुपये रिश्वत लेने का आरोप है। सीबीआई ने इसी मामले में ईडी के सहायक निदेशक के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बता दें कि दिल्ली शराब घोटाला मामले में दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री Manish Sisodia जेल में हैं। उनकी जमानत पर सुप्रीम कोर्ट में मामला लंबित है।

Read More:मनी लॉन्ड्रिंग केस : Jacqueline Fernandez को बड़ी राहत, कोर्ट से अनुमति के बिना जा सकेंगी विदेश

सिसोदियों के खिलाफ कोर्ट में मामला लंबित

बता दें कि CBI ने सिसोदिया को शराब घोटाला मामले में कथित भूमिका के लिए पहली बार 26 फरवरी को गिरफ्तार किया था। इसके बाद से ही मनीष सिसोदिया हिरासत में हैं। सिसोदिया ने 28 फरवरी को दिल्ली मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था। वहीं 30 मई को आबकारी नीति मामले में मनीष सिसोदिया को जमानत देने से हाईकोर्ट ने इनकार कर दिया था।

Read More:बोल्डनेस दिखाने इस bhojpuri actress ने उतारे कपड़े, टॉपलेस होकर दिखाए हॉट फिगर, फैंस बोले –‘बेशर्म’

तलाशी में मिले करोड़ों रुपये

ED की शिकायत में इस बात का उल्लेख किया गया है कि ईडी ने सहायक निदेशक पवन खत्री, अपर डिवीजन क्लर्क नितेश कोहर, क्लेरिजेज के सीईओ विक्रमादित्य को परिसरों की तलाशी ली थी। तलाशी के दौरान पवन खत्री के परिसर से रिश्वत के 2.2 करोड़ रुपये बरामद किए गए हैं। यह 2.2 करोड़ रुपेय खत्री को VAT के माध्यम से पहले भुगतान किए गए 5 करोड़ रुपये का हिस्सा था। बता दें कि तलाशी जुलाई के पहले सप्ताह में की गई थी।

Related Articles

Back to top button