Big Breaking : ज्वालामुखी में अचानक विस्फोट,11 माउंटेनर्स की मौत

Big Breaking : 3 दिसंबर 2023 को मरापी ज्वालामुखी में अचानक विस्फोट हो गया.Indonesia में मौजूद इस ज्वालामुखी की ऊंचाई 9843 फीट, ज्वालामुखी विस्फोट के बाद काफी तेज गति में राख निकल रहा था.जिसकी वजह से वहां मौजूद 11 माउंटेनर्स की मौत हो गई. आसपास के शहरों में राख के बादल छा गए. सड़कों, घरों, पेड़ों और गाड़ियों सब पर राख ही राख फैल गई. स्थानीय प्रशासन ने लोगों को ज्वालामुखी के आसपास तीन किलोमीटर के घेरे तक जाने से मना किया है.

रापी ज्वालामुखी के विस्फोट के बाद दूसरे स्तर का अलर्ट जारी किया गया है. डिजास्टर मैनेजमेंट एजेंसी के आदे सेतियावान ने कहा कि हमने स्थानीय लोगों को मास्क दिया है. साथ ही उन्हें घरों में रहने की सलाह दी है. ताकि वो लोग जहरीले राख के बीच न घूमें.

Read More:BIG BREAING : 7.6 तीव्रता का आया भूकंप, सूनामी की चेतावनी जारी

सबसे ज्यादा सक्रिय ज्वालामुखी इंडोनेशिया में  

Big Breaking  : दुनिया में 1500 एक्टिव यानी सक्रिय ज्वालामुखी है. दुनिया में सबसे ज्यादा सक्रिय यानी एक्टिव ज्वालामुखी इंडोनेशिया  में हैं. यहां पर कुल 121 ज्वालामुखी हैं. जिसमें से 74 ज्वालामुखी सन 1800 से सक्रिय हैं. इनमें से 58 ज्वालामुखी साल 1950 से सक्रिय हैं. यानी इनमें कभी भी विस्फोट हो सकता है. सात ज्वालामुखियों में तो 12 अगस्त 2022 के बाद से लगातार विस्फोट हो ही रहा है. ये हैं- क्राकटाउ, मेरापी, लेवोटोलोक, कारांगेटांग, सेमेरू, इबू और डुकोनो.

क्यों होता है इन ज्वालामुखियों में विस्फोट? 

Big Breaking  : अब सवाल ये उठता है कि आखिर यहीं पर इतने सक्रिय ज्वालामुखी क्यों हैं? इसकी तीन बड़ी वजहें हैं. पहला ये कि इंडोनेशिया जिस जगह हैं, वहां पर यूरेशियन टेक्टोनिक प्लेट दक्षिण की ओर खिसक रही हैं. इंडियन-ऑस्ट्रेलियन टेक्टोनिक प्लेट उत्तर की ओर खिसक रही है. फिलिपीन्स प्लेट पश्चिम की तरफ जा रही है. अब इन तीनों प्लेटों में टकराव या खिसकाव की वजह से ज्वालामुखियों में विस्फोट होता रहता है.

Read More:Bollywood : इस एक्ट्रेस के EX husband ने फिर लगाए गंभीर आरोप,कहा ‘पैरों में गिर जाऊंगा,बस…

फटते हुए ज्वालामुखियों का देश है इंडोनेशिया

Big Breaking  : असल में इंडोनेशिया को फटते हुए ज्वालामुखियों का देश भी कहा जाता है. यह देश पैसिफिक रिंग ऑफ फायर (Pacific Ring of Fire) के ऊपर बसा है. इस इलाके में सबसे ज्यादा भौगोलिक और भूगर्भीय गतिविधियां होती हैं. जिसकी वजह से भूकंप, सुनामी, लावा के गुंबदों का बनना आदि होता रहता है. इंडोनेशिया का सबसे ज्यादा सक्रिय ज्वालामुखी केलूट (Kelut) और माउंट मेरापी (Mount Merapi) हैं. ये दोनों ही जावा प्रांत में हैं.

अब आपको बताते हैं उन चार अन्य देशों के बारे में जहां पर सबसे ज्यादा एक्टिव ज्वालामुखी है. इंडोनेशिया के बाद अगर किसी देश में सबसे ज्यादा सक्रिय ज्वालामुखी हैं. तो वह है अमेरिका. यहां पर 63, जापान में 62, रूस में 49 और चिली में 34 सक्रिय ज्वालामुखी है. यानी ये सभी ज्वालामुखी या तो फट रहे हैं. या कभी भी फट सकते हैं.

Related Articles

Back to top button