Bad News : 3300 हत्याओं का आरोपी है 98 वर्षीय बुजुर्ग, लोगों को उतारता रहा मौत के घाट, क्या है पूरा मामला?

Bad News : आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं। जिस पर आपको यकीन करनो मुश्किल होगा। यह 98 वर्षीय शख्स 3300 हत्याओं का आरोपी बताया जा रहा है। दरसल, यह शख्स द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान हजारों लोगों की हत्या में शामिल रहा है। जिन्हें इस शख्स ने कठिन यातनायें दी। शख्स एडोल्फ हिटलर की क्रूर सेना एसएस में काम करता था।

Bad News : अभियोजकों ने आरोप लगाया है कि शख्स ने उस दौरान ‘एसएस गार्ड के सदस्य के रूप में हजारों कैदियों की क्रूर और दुर्भावनापूर्ण हत्या का समर्थन किया था।’ साक्सेनहाउजेन बर्लिन के उत्तर में स्थित है। इस शिविर में 200,000 से अधिक लोगों को रखा गया था, जिनमें यहूदी, राजनीतिक कैदी और नाजी उत्पीड़न के अन्य पीड़ित शामिल थे। स्कॉलर्स का मानना है कि यहां लगभग 40,000 से 50,000 कैदी मारे गए थे।

Read More : Bad News : अरसे बाद मिले प्रेमी-प्रमिका, दिन-रात करने लगे सम्भोग, सुबह होते निकल गई जान, जाने आखिर क्या थी वजह…

बेशक दूसरे विश्व युद्ध को समाप्त हुए कई दशक बीत गए हैं। लेकिन उस समय हत्याओं में शामिल नाजियों पर अब मुकदमे चल रहे हैं। इनमें से कई की मौत हो गई है। जो जीवित बचे हैं, उनकी उम्र 90 साल के पार है। वहीं कथित अपराध के समय इस बुजुर्ग की कम उम्र को देखते हुए हनाउ की एक अदालत यह तय करेगी कि मामले की कार्यवाही शुरू की जाएगी या नहीं।

Bad News : इससे पहले साल 2011 में पूर्व नाजी गार्ड जॉन डेमजंजुक को सजा दी गई थी। इस केस ने जर्मन कानून में एक मिसाल कायम की। इसके बाद नरसंहार करने वालों के खिलाफ मुकदमों की दौड़ शुरू हो गई। तभी से जमीर्नी में एसएस गार्ड्स रहे लोगों के खिलाफ मुकदमे चल रहे हैं। लेकिन अब ज्यादातर की उम्र बहुत अधिक हो गई है।

Read More : Sad News : आटा चक्की में आया करंट, दो बच्चों समेत 4 की मौत, एक-दूसरे में सब झुलसे

इनके स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए कई मामलों में सुनवाई ही नहीं हुई। इसके साथ ही अगर किसी पर दोष साबित हो भी जाए, तो उसे जेल नहीं हो रही। कुछ की जेल की सजा काटने से पहले ही मौत हो गई है।

Related Articles

Back to top button