Kota में एक और छात्र को सुसाइड अटेंप्ट करने से रोका गया,5 दिनों में 4 छात्रों ने की सुसाइड की कोशिश

Kota में इस साल भी छात्र आत्महत्या के मामले सामने आ रहा हैं. पिछले साल 29 छात्रों ने सुसाइड किया था और इस साल 26 दिन में 4 छात्र सुसाइड कर चुके हैं, जबकि समय रहते कई छात्रों को सुसाइड करने से रोककर जान बचाई गई है. पांच दिन में चार छात्रों को सुसाइड अटेंप्ट करने से रोका गया है. ताजा मामला गुरुवार का है. कोटा में इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम जेईई की तैयारी करे छात्र को समय रहते पुलिस ने सुसाइड करने से रोक लिया.

Read More:Kotak Mahindra और आरबीएल बैंक के अधिकारी सहित 8 गिरफ्तार, क्रेडिट कार्ड के नाम पर ठगी

दरवाजा बंद कर सुसाइड की कोशिश कर रहा था छात्र
Kota मेंमें पुलिस की सतर्कता से गुरुवार को एक और कोचिंग छात्र की जान बचाई गई. छत्तीसगढ़ के रहने वाले 19 वर्षीय कोचिंग छात्र ने कमरा बंद कर लिया और आत्महत्या करने की तैयारी में था, लेकिन सूचना के बाद पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई. इसके बाद पुलिस ने छात्र को मनोवैज्ञानिक तरीके से छात्र को विश्वास में लेकर समझाइश की और कमरे का दरवाजा खुलवाया. पुलिस की टीम ने कोचिंग छात्र की काउंसलिंग के लिए कोचिंग के काउंसलर को बुलाया और काउंसलिंग करवाई गई.

Read More:लाख प्रयासों के बावजूद Kota में नहीं थम रहा छात्रों का सुसाइड,इस बार झारखंड की छात्रा ने दी जान

कई  महीने से कोचिंग नहीं जा रहा था छात्र
कोचिंग छात्र Kota में के महावीर नगर प्रथम में रहकर पिछले 1 साल से जेईई की तैयारी कर रहा है. पुलिस उप निरीक्षक लक्ष्मण लाल ने बताया कि कोचिंग छात्रा 6 महीने से कोचिंग नहीं जा रहा था, वह 1 महीने से हॉस्टल के कमरे में ही खाना मंगा लेता था. छात्र की हालत बहुत दयनीय बताई जा रही है.

Related Articles

Back to top button