Ajab-Gajab : प्रेग्नेंसी चौथे महीने में ही पैदा हो गई बच्ची, वजन सिर्फ 328 ग्राम ! डॉक्टर्स भी हैरान

Ajab-Gajab : ब्रिटेन के वेल्स में एक ऐसी बच्ची पैदा हुई है, जिसका वजह महज 328 ग्राम है. इस बच्ची का जन्म तय समय से पांच महीने पहले ही हो गया, जो काफी चौंकाने वाली बात है. बच्ची की मां को गर्भवस्था के दौरान इतना ज्यादा दर्द हुआ कि जब वह अस्पताल गई, तो उसने तुरंत ही नवजात को जन्म दे दिया. ये बच्ची आधिकारिक रूप से वेल्स की सबसे छोटी पैदा हुई बच्ची है. बच्ची का नाम रोबिन चैंबर्स है, जबकि उसकी मां का नाम चैन्टेल चैंबर्स और पिता का नाम डैनियल चैंबर्स है.

रोबिन के पैरेंट्स का कहना है कि जब वह पैदा हुई, तब हमें मालूम था कि वह छोटी होगी. लेकिन हमें ये नहीं मालूम था कि वह इतनी ज्यादा छोटी होगी कि उसे अपनी जिंदगी अस्पताल में ही गुजारनी पड़ेगी. ग्रेंज अस्पताल में पैदा हुए रोबिन को एन्यूरिन बेवन यूनिवर्सिटी हेल्थ बोर्ड के जरिए वेल्स में पैदा हुए सबसे छोटे बच्चे का खिताब दिया गया है. उसका वजन 328 ग्राम है. वह इतनी ज्यादा छोटी है कि अपनी मां की हथेलियों में समाती हुई नजर आती है.

Read More:Ajab -gajab : बच्चे के लिए भगवान बना डॉक्टर, दान किये Bone Marrow,लोगों ने किया जमकर तारीफ़

23 हफ्तों में ही पैदा हो गई बच्ची

डेली मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, डैनियल ने बताया कि डॉक्टर्स ने उन्हें बताया कि वह इस अस्पताल में पैदा हुई सबसे छोटी बच्ची है. लेकिन फिर जाकर पता चला कि वह अस्पताल ही नहीं, बल्कि वेल्स में पैदा हुई सबसे छोटी बच्ची बन गई है. रोबिन का जन्म महज 23 हफ्तों में ही हो गया था. चैन्टेल ने बताया कि उन्हें 22 हफ्ते की प्रेगनेंसी के बाद से ही दर्द होना शुरू हो गया था. डॉक्टर्स ने उन्हें कहा था कि रोबिन शायद जिंदा नहीं बचे, मगर ऐसा नहीं हुआ है.

Read More:Ajab-Gajab : कॉफी के शौकीनों में तेजी से बढ़ रहा “से’क्स कॉफी” का क्रेज, ये हैं इसके जबरदस्त फायदे

अस्पताल में भर्ती

रोबिन जब पैदा हुई, तो उसे तुरंत वेंटिलेटर पर रखना पड़ा. उसे सेप्सिस की शिकायत हो गई. वह इतनी ज्यादा छोटी है कि डॉक्टर्स को उसकी नसें ढूंढने में बहुत समय लग जाता है. शुरू में तो डॉक्टर्स को उसका वजन बढ़ाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा, लेकिन धीरे-धीरे उसका वजन बढ़ने लगा है. अभी रोबिन तीन महीने की हो गई और उसका वजन 1 किलोग्राम है. हालांकि, जुलाई में पैदा होने के बाद से ही वह घर नहीं गई है, बल्कि अस्पताल में ही है.

Related Articles

Back to top button